Deprecated: Methods with the same name as their class will not be constructors in a future version of PHP; astropress_widget has a deprecated constructor in /var/www/vhosts/xtroguru.com/httpdocs/wp-content/plugins/astropress-by-ask-oracle/AstroPress.php on line 39
रातों रात विधायकों का टूटना गैरकानूनी है: सुप्रीम कोर्ट, कांग्रेस बोली- कानून की रक्षा आपकी जिम्मेदारी है - XtroGuru
India 

रातों रात विधायकों का टूटना गैरकानूनी है: सुप्रीम कोर्ट, कांग्रेस बोली- कानून की रक्षा आपकी जिम्मेदारी है

कर्नाटक में मुख्यमंत्री कौन होगा इस पर लगातार सुनवाई जारी है।

बहुमत साबित करने का मौका भले ही भाजपा को पहले दे दिया गया है लेकिन गवर्नर के इस फैसले को कांग्रेस ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी और आधी रात को सुनवाई की जा रही है।

जिसमें जज ने दलील दी कि अगर रातों रात 8 विधायक टूटते हैं तो यह गैरकानूनी है ।

इसी तर्क पर बढ़त बनाते हुए अभिषेक मनु सिंघवी बोले- यही बात तो कांग्रेस कह रही है कि ये गैरकानूनी है और कानून की रक्षा करना न्यायालय की जिम्मेदारी है।

साभार – ABP न्यूज़

 

बड़े अप्डेट्स….

03.21 AM: सिंघवी ने कहा- शपथ ग्रहण को रोकें, इससे राज्यपाल के आदेश में हस्तक्षेप नहीं होगा.

03.18 AM: सिंघवी ने कहा- अगर यह कोर्ट संविधान की धारा 356 के तहत राष्ट्रपति शासन को रोक सकता है तो राज्यपाल के आदेश को क्यों नहीं?

03.14 AM: कोर्ट ने केस की मेरिट की सवाल पर उठाए. सिंघवी से कहा- आपके पास राज्यपाल की बीजेपी को शपथ ग्रहण की दी गई चिट्ठी ही नहीं तो कैसे दलील सुनें?

03.14 AM: कोर्ट ने केस की मेरिट की सवाल पर उठाए.

03.13 AM: जस्टिस सीकरी ने सिंघवी से कहा- हम इस मामले में कैसे हस्तक्षेप करें? आपके पास तो सरकार बनाने का दावा पेश करने वाली चिट्ठी भी नहीं है.

03.12 AM: मुकुल रोहतगी ने कहा कि राज्यपाल को पार्टी नहीं बनाया जा सकता है.

03.10 AM: सिंघवी का सवाल- शपथ ग्रहण करवाने के लिए राज्यपाल की ओर से इतनी हड़बड़ी क्यों दिखाई गई?

03.03 AM: सिंघवी की दलील- राज्यपाल के विशेषधिकार भी ज्यूडिशियल रिव्यू के दायरे में आते हैं.

03.00 AM: सिंघवी ने कहा कि दिल्ली में बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी थी लेकिन AAP और कांग्रेस को सरकार बनाने के लिए बुलाया गया और जम्मू-कश्मीर में एनसीपी सबसे बड़ी पार्टी थी लेकिन बीजेपी और पीडीपी ने सरकार बनाई.

03.00 AM: सिंघवी ने दिल्ली में AAP और कांग्रेस और जम्मू-कश्मीर में बीजेपी और पीडीपी के सरकार बनाने का उदाहरण दिया.

02.56 AM: सिंघवी ने दलील दी- 2018 में मेघालय में और गोआ में भी ऐसा ही हुआ. तब सुप्रीम कोर्ट ने उसे बरकरार रखा था. झारखंड में भी एसे ही पोस्टपोल अलायन्स हुए और सरकार बनी.

02.51 AM: अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल भी हैं सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान मौजूद.

02.46 AM: जज बोबडे ने मनु सिंघवी ने कहा कि आपको संविधाव की धारा 361 की व्याख्या भी समझनी होगी. क्या राज्यपाल को नियंत्रित किया जा सकता है, ऐसे तो वैक्यूम पैदा हो जाएगा.

02.44 AM: जस्टिस बोबडे ने पूछा कि हमारे पास क्या विकल्प हैं, क्या मौजूदा सरकार को ही जारी रखा जाए, क्योंकि वैक्यूम तो नहीं छोड़ा जा सकता.

02.41 AM: जस्टिस सीकरी- हमें यह भी देखना होगा कि बीजेपी दावे के मुताबिक बहुमत साबित कर पाती है या नहीं.

02.39 AM: येदियुरप्पा ने 7 दिन मांगे थे और राज्यपाल ने 15 दिन दे दिए- सिंघवी.

02.37 AM: कोर्ट ने कहा- सरकारिया रिपोर्ट में भी बहुमत वाली एकल पार्टी को बुलाने की बात है.

02.35 AM: ऐसा पहली बार देखा कि किसी दल को बहुमत साबित करने के लिए 15 दिन का समय दिया जाए- सिंघवी.

02.34 AM: सिंघवी बोले कि राज्यपाल के पास कोई विकल्प नहीं, सबसे बड़े गठबंधन या दल को बुलाना होगा.

02.32 AM: सिंघवी ने कहा कि गोवा में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी थी, लेकिन चुनाव पश्चात हुए गठबंधन के बाद बीजेपी को सरकार बनाने का मौका मिला.

02.25 AM: सिंघवी बोले- 2017 में गोवा में सरकार बनाने के बीजेपी के कदम को सुप्रीम कोर्ट ने भी सही ठहराया था.

02.23 AM: सिंघवी बोले- स्पष्ट बहुमत न होने की स्थिति में  सरकारिया आयोग और रामेश्वर बनाम यूनियन ऑफ इंडिया के फैसले में भी पहले बहुमत वाले दल को प्राथमिकता दे. ऐसा न हो तो चुनाव पूर्व गठबंधन या चुनाव पश्चात गठबंधन को सरकार बनाने का मौका मिलना चाहिए.

02.18 AM: अभिषेक मनु सिंघवी बोले- जेडीएस ने बहुमत के सबूत के साथ सरकार बनाने का दावा भी कर दिया था.

02.17 AM: अभिषेक मनु सिंघवी ने पूछा- बीजेपी कैसे साबित करेगी बहुमत?

02.14 AM: सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई जारी.अभिषेक मनु सिंघवी बोले- हमारे पास 117, बीजेपी के पास केवल 104 MLA.

02.05 AM: मुकुल रोहतगी ने कोर्ट में जाने से पहले कहा कि राज्यपाल के पास सबसे बड़े दल को बुलाने का अधिकार है, अगर सबसे बड़ी पार्टी बहुमत साबित नहीं बना सकी तो दूसरी पार्टी को मौका मिलेगा.

02.02 AM: मुकुल रोहतगी बीजेपी का पक्ष रखेंगे.

01.59 AM: मुकुल रोहतगी ने कहा कि कांग्रेस इस मामले में गोवा विधानसभा का उदाहरण नहीं दे सकती, क्योंकि उसने वहां पर सरकार बनाने का दावा ही पेश नहीं किया था.

01.55 AM: सुप्रीम कोर्ट में कांग्रेस और जेडीएस की अर्जी पर सुनवाई जारी.

01.55 AM: संसद के बाहर यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन.

01.47 AM: पूर्व सॉलिसिटर जनरल मुकुल रोहतगी भी पहुंचे सुप्रीम कोर्ट.

01.45 AM: सुप्रीम कोर्ट में पहुंचे जज और वकील.

Related posts

Leave a Comment