Deprecated: Methods with the same name as their class will not be constructors in a future version of PHP; astropress_widget has a deprecated constructor in /var/www/vhosts/xtroguru.com/httpdocs/wp-content/plugins/astropress-by-ask-oracle/AstroPress.php on line 39
दलितों के साथ न खेले बीजेपी, वर्ना होगा 1977 जैसा हाल- मायावती - XtroGuru
Politics 

दलितों के साथ न खेले बीजेपी, वर्ना होगा 1977 जैसा हाल- मायावती

लखनऊ। बीएसपी अध्यक्ष मायावती ने भारत बंद के बाद दलितों को जेल में बंद किये जाने की घटनाओं को लेकर बीजेपी पर हमला बोला। मायावती ने कहा कि एससी/एसटी एक्ट में बदलाव के खिलाफ भारत बंद में शामिल होने वाले दलितों का पुलिस उत्पीड़न कर रही है। दलितों को निशाना बनाया जा रहा है। कई दलितों और उनके परिवार वालों को गिरफ्तार किया जा रहा है

मायावती ने आरोप लगाया कि भाजपा शासित राज्यों में दलितों पर अत्याचार किया जा रहा है। देश में इमरजेंसी से भी बदतर हालात हो गए हैं। भाजपा आग से खेल रही है। मायावती ने कहा कि मुझे भरोसा है कि देश के स्वाभीमानी दलित समाज के लोग स्वार्थी और बिकाऊ मानसिकता वाले सांसदों को माफ करने वाले नहीं है।

मायावती ने कहा, ‘कुछ दलित सांसदों ने भाजपा की ओर से किए जा रहे जातिवादी व्यवहार और दलितों पर हो रहे हमलों को लेकर की जा रही बयानबाजी सिर्फ कोरी राजनीति और नाटकबाजी है। भाजपा की सरकार में दलितों पर आय दिन दुखों का पहाड़ टूटता रहता है। इसके चलते दुखी होकर मुझे संसद तक से इस्तीफा देना पड़ा। उस वक्त भाजपा ये दलित सांसद कुंभकर्ण की नींद सो रहे थे।’

मायावती ने कहा, ‘लोकसभा के चुनाव का समय नजदीक आ गया है भाजपा0 का भविष्य अंधकार में नजर आ रहा है। भाजपा के दलित सांसद समाज में दुत्कारे भी जा रहे हैं, इससे बचने के लिए ये लोग ऐसी नाटकबाजी कर रहा है।’

मायावती ने कहा, ‘भाजपा को समझ लेना चाहिए कि वे दलितों के साथ खेलने की कोशिश ना करें वर्ना फिर इनकी भी कहीं वही दुर्गति ना हो जाए जो 1975 की इमरजेंसी के बाद 1977 में कांग्रेस पार्टी की हुई थी। दलितों, गरीबों और आदिवासियों की हाय भाजपा को अगले चुनाव में खत्म और बर्बाद ना कर दे।’

इससे पहले दिल्ली से भाजपा सांसद और दलित नेता उदित राज ने भी दलितों को झूठे केस में फंसाने और प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है। उदित राज ने आरोप लगाया है कि 2 अप्रैल को दलितों के भारत बंद के बाद देश के अलग-अलग शहरों में दलितों पर अत्याचार हो रहे हैं। झूठे केस में दलितों को फंसाकर उन्हें परेशान किया जा रहा है। उदित राज का ये बयान ऐसे वक्त आया है जब बीजेपी के 4 और दलित सांसदों ने ऐसे ही आरोप लगाए हैं।

Related posts

Leave a Comment