Fake Funny News 

जल्द ही आएगी मार्केट में पतंजलि हर्बल बीड़ी और आयुर्वेदिक व्हिस्की, प्री-बुकिंग शुरू

हरिद्वार. पूरी दुनिया में योग की क्रान्ति लाने के बाद बाबा रामदेव अब लोगों को सिगरेट, बीड़ी और व्हिस्की की लत लगवाना चाहते हैं। ये कोई आम बीड़ी नहीं है, अपितु अश्वगंधा, तुलसी और नीम की छाल से मिलकर बनी है। वहीं, सिगरेट पुदीना, हींग और लहसुन फ्लेवर में उपलब्ध होगी।

हर्बल बीड़ी का नुस्ख़ा समझाते बाबा रामदेव

लगातार तीन दिन तक ध्यान में मग्न रहने के बाद बाबा रामदेव इन दोनों प्रोडक्ट्स का नाम सोच पाए हैं। गहन चिंतन के बाद बाबाजी ने इन दोनों का नामकरण ‘निर्दोष बीड़ी’ और  ‘मोक्ष-सिगरेट’ किया है।

आम सिगरेट के पैकेटों के उलट, पतंजलि सिगरेट के पैकेट पर साफ़-सुथरे और स्वस्थ फेफड़ों का चित्र बना होगा। इस ख़बर से दुनिया भर के अस्थमा पीड़ितों में रोमांच की लहर दौड़ गयी है। पतंजलि के ऑनलाइन पोर्टल पर इन प्रोडक्ट्स की प्री-बुकिंग भी शुरु हो गयी है। बुकिंग के लिए भक्तों में भारी उत्साह देखा जा रहा है।

पतंजलि के प्रवक्ता ने बताया कि “हमारी व्हिस्की भी कई फ्लेवर में उपलब्ध होगी, जिसमें अखरोट,आँवला और पालक से बनी व्हिस्की की अभी से भारी मांग है। प्रातः कालीन अनुलोम-विलोम के बाद इस व्हिस्की को लिटिल-लिटिल लेने से लीवर मजबूत होगा और पूरे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाएगी! इसका नाम हमने ‘8AM’ रखा है!”

उधर, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत ने पतंजलि के इन प्रोडक्ट्स की भूरि-भूरि प्रशंसा करते हुए कहा है कि “वो दिन दूर नहीं, जब सुबह-सुबह योग के बाद बाप और बेटे साथ बैठ कर पतंजलि की बीड़ी-सिगरेट पीयेंगे। साथ समय बिताने से बच्चों को सु-संस्कार मिलेंगे और जल्द ही पूरा भारत रोग मुक्त हो जाएगा।”

Related posts

Leave a Comment