पूरा लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

जुलाई महीने में शनि महाराज की बरसेगी अपार कृपा, इन 4 राशियों को मिलेगी बड़ी खुशखबरी

कर्मफल दाता कहे जाने वाले शनिदेव मनुष्य के अच्छे और बुरे कर्म के अनुसार ही उसको फल देते हैं यदि मनुष्य गलत कार्य करता है तो उसको शनिदेव के क्रोध का सामना करना पड़ता है हर कोई व्यक्ति शनिदेव के क्रोध से बचना चाहता है जिसके लिए वह शनिदेव की पूजा आराधना करने में लगा रहता है जिससे शनिदेव की कृपा प्राप्त की जा सके. अगर शनि देव की कृपा दृष्टि किसी व्यक्ति पर हो तो उसके जीवन में सभी कष्टों का अंत होता है और वह अपने जीवन में…

Read More
Uncategorized पूरा लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

पार्टनर के स्वभाव से लेकर चरित्र तक, सब कुछ बताती है ये रेखाएं

किसी भी व्यक्ति और उसकी फैमेली के बारे में जानकारी निकालना आसान है, लेकिन उस व्यक्ति का स्वभाव कैसा है, यह सभी बातें जानने के लिए कई मुलाकाते भी कम पड़ जाती है। यह बात हम सभी जानते है कि जब हम विवाह के लिए कोई लडक़ा या लडक़ी देखते है तो उसके बारे में सभी बाते पता लगाते है। सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि उसके परिवार रिश्तेदारों के बारे में दूसरे लोगों से पूछताछ करते है कि लडक़ा अच्छा है या नहीं। आइये दोस्तों आज हम आपको ऐसी बाते…

Read More
पूरा लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

केतु रत्न ब्लैक कैट आई रत्न पहनने के लाभ, नुकसान, लग्न अनुसार फल तथा धारण विधि

केतु का रत्न लहसुनिया अचानक समस्याओं से निजात दिलाता है एवं त्वरित फायदे भी कराता है। यह रत्न केतु के दुष्प्रभाव को शीघ्र ही समाप्त करने में सक्षम है। इसके विविध नाम है जैसे-वैदुर्य, विद्रालक्ष, लहसुनिया, कैटस आई आदि। यह वृषभ, तुला, मकर, मिथुन व कुम्भ राशि वालों के लिए विशेष लाभकारी सिद्ध होता है। आईये जानते है कि लहसुनिया रत्न कि पहचान कैसे करें एवं इस रत्न को किसे धारण करना चाहिए तथा किसे नहीं। भौतिक गुण-आपेक्षिक घनत्व 3.68 से 3.78 तक कठोरता, 8.50, वर्तनाक 1750 से 1.75 तक,…

Read More
पूरा लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

राशिफल 16 जून 2018: गणेश चतुर्थी के साथ-साथ पुनर्वसु नक्षत्र, इन राशियों को मिलेंगे ढ़ेरों लाभ

शनिवार होने के साथ-साथ आज पुनर्वसु नक्षत्र के कारण घ्रुव नक्षत्र बन रहा है। जिसके कारण कुछ राशियों को लाभ तो कुछ राशियों को हानि होगी। जानिए आचार्य इंदु फ्रकाश से कैसा रहेगा आपका दिन। आज ज्येष्ठ शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि है। आज रम्भा तृतीया है। हेमाद्रि व्रतखण्ड के भाग-1 के पृष्ठ 426 से 430 में, कालनिर्णय के पृष्ठ 176, तिथितत्व के पृष्ठ 30 से 31 में उल्लेख मिलता है कि यह व्रत नारियों के लिये है। शनिवार होने के साथ-साथ आज पुनर्वसु नक्षत्र के कारण घ्रुव नक्षत्र बन…

Read More
पूरा लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

कुंडली में शुभ-अशुभ शुक्र ग्रह के प्रभाव तथा शुक्र को मजबूत बनाने के अचूक उपाय

शुक्र ग्रह आकर्षण, ऐश्वर्य, सौभाग्य, धन, प्रेम और वैभव के कारक हैं। शुक्र जिसके केंद्र में त्रिकोणगत हों वह अत्यंत आकर्षक होता है। बृहद पराशर होरा शास्त्र में कहा गया है कि सुखीकान्त व पुः श्रेष्ठः सुलोचना भृगु सुतः। काब्यकर्ता कफाधिक्या निलात्मा वक्रमूर्धजः।। तात्पर्य यह है कि शुक्र बलवान होने पर सुंदर शरीर, मुख, नेत्र, पढ़ने-लिखने का शौकीन, कफ वायु प्रकृति प्रधान होता है। शुक्र के अन्य नामः भृगु, भार्गव, सित, सूरि, कवि, दैत्यगुरु, काण, उसना, सूरि, जोहरा (उर्दू का नाम) वीनस (अंग्रेजी)आदि हैं। शुक्र का वैभवशाली स्वरूपः यह ग्रह…

Read More
पूरा लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

जानिए क‍िस ग्रह के खराब होने से सताने लगता है अनहोनी का डर, कैसे करते हैं ठीक

ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक ऐसा चंद्रमा के राहु, केतु या शनि के साथ होने से होता है। ऐसा होने पर व्यक्ति नकारात्मक विचारों से घिर जाता है और उसे अनहोनी का डर सताने लगता है। डर जीवन में हर किसी को लगता है, कई बार दिमाग में हर वक्त किसी बात का डर बना ही रहता है। किसी विशेष प्रकार के डर को, विशेष फोबिया के नाम से जाना जाता है, आप भी जानें डर के यह 7 प्रकार कहीं आपको तो नहीं ? 1 मायसोफोबिया -यानि कीटाणु का डर,…

Read More
Uncategorized पूरा लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

बिछिया पहनते समय भूलकर भी न करें ये गलती, वरना पति…

भारतीय संस्कृति के अनुसार एक शादीशुदा महिला को मांग में सिंदूर, गले में मंगलसूत्र और पैर में बिछिया पहनना सबसे जरुरी माना गया है क्योंकि ये सुहाग की निशानी होती है जो ये संकेत देती है कि आप एक सुहागन स्त्री है, जिस तरह मांग में सिंदूर लगाने से पति की उम्र लम्बी होती है उसी तरह गले में मंगलसूत्र पहनने से पति हमेशा बुरी नज़रों से बचा रहता है. ठीक इसी तरह पैर में बिछिया पहनना भी शुभ माना गया है. वहीं भारतीय ज्योतिष शास्त्र के अनुसार बिछिया चन्द्रमा…

Read More
पूरा लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

जाने क्यों,बहुत ही शुभ संकेत है मंदिर से जूते या चप्पल का चोरी हो जाना !

क्या कभी आपके जूते या चप्पल किसी मंदिर से गायब या चोरी हुए हैं ? सामान्यतः किसी भी वस्तु की चोरी से हमें कुछ आर्थिक नुकसान होता है साथ ही प्रिय वस्तु जाने से कुछ दुःख भी अवश्य होता है. किन्तु पुरानी मान्यताओं के अनुसार जूते चप्प्ल का चोरी होना एक शुभ संकेत है विशेष रूप से यदि यह घटना मंदिर में घटे तो और भी अच्छा है और यदि संयोग से उस दिन शनिवार हो तो बहुत ही उत्तम रहता है। 1. ऐसा माना जाता है की पैरों में…

Read More
पूरा लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

14 जून राशिफल: चन्द्र राशि अनुसार आपका पॉजिटिव, नेगेटिव, हैल्थ, करियर, लव, स्टडी रिपोर्ट और उपाय

गुरुवार को मिथुन राशि का चंद्रमा और धनु राशि का शनि आमने-सामने रहेंगे। ये दोनों ग्रह 6 राशि वालों की टेंशन और दौड़-भाग बढ़ाएंगे। मिथुन, कर्क, कन्या, वृश्चिक, मकर और मीन राशि वाले लोगों को धन हानि हो सकती है। जॉब और बिजनेस में गलत फैसले होने की संभावना है। ये 6 राशि वाले आज जल्दबाजी से बचें। महत्वपूर्ण कामों में जोखिम लेने से भी इनको बचना चाहिए। वहीं मेष, वृष, सिंह, तुला, धनु और कुंभ राशि वाले लोगों के लिए दिन ठीक-ठाक रहेगा। पढ़ें गुरुवार का पूरा राशिफल और…

Read More
पूरा लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

आज सूर्य-चंद्र एक साथ मेष राशि में, अधिकतर लोग नहीं जानते अमावस्या से जुड़ी 7 बातें

आज (13 जून) ज्येष्ठ मास की अमावस्या तिथि है। हिन्दू पंचांग में एक माह 15-15 दिनों के दो भागों में या दो पक्षों में बंटा होता है। एक है शुक्ल पक्ष और दूसरा है कृष्ण पक्ष। शुक्ल पक्ष में चंद्र की कलाएं बढ़ती हैं यानी चंद्र बढ़ता है। कृष्ण पक्ष में चंद्र घटता है और अमावस्या पर पूरी तरह अदृश्य हो जाता है। चंद्रमा की सोलहवीं कला को अमा कहा गया है। स्कंदपुराण में लिखा है- अमा षोडशभागेन देवि प्रोक्ता महाकला। संस्थिता परमा माया देहिनां देहधारिणी।। इस श्लोक का अर्थ…

Read More
पूरा लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

अधिकमास की अमावस्या आज : 3 साल बाद बनेगा ऐसा शुभ संयोग, सूर्यअस्त से पहले कर लें ये काम

हिंदू धर्म में अधिकमास व मलमास का बहुत महत्व माना जाता है। आज ज्येष्ठ मास की अमावस्या है जो की बहुत ही खास है क्योंकि मलमास की अमावस्या हर तीन साल के बाद आती है। इस दिन भगवान विष्णु के अवतार श्रीकृष्ण की पूजा की जाती है व साथ ही गंगा स्नान किया जाता है। आज के दिन सुबह और शाम में भगवान विष्णु और तुलसी की पूजा करने से सुख-समृद्धि में वृद्धि प्राप्त होती है। आज ज्येष्ठ अमावस्या के दिन यदि आप व्रत कर रहे हैं तो आज के…

Read More
पूरा लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

ज्योतिष के ये उपाय आपकी कुण्डली में अशुभ ग्रह की छाया से बचाएंगे

अगर किसी जातक की कुंडली में किसी अशुभ ग्रह की छाया पड़ जाये तो उस जातक को जीवन में तरह – तरह की समस्याओं, परेशानियों से दो चार करना पड़ता हैं । ग्रहों की अशुभ स्थिति का सही पता लग जाये तो उनका निवारण जातक स्वंय कुछ छोटे छोटे उपायों के द्वारा अपने घर पर ही बिना रूपया पैसा खर्च किए सहज ही कर सकता । इन उपायों को करने के बाद निश्चित ही व्यक्ति जीवन में शुभ होना प्रारंभ हो जाता हैं, और सभी परेशानियां खत्म होने लगती हैं…

Read More